दशहरा की हार्दिक शुभकामनाएं - Happy Dussehra Wishes in Hindi



हिन्दू धर्म में दशहरा का पर्व, वर्ष की तीन अत्यंत शुभ तिथियों में से एक के रूप में माना जाता है। इसी दिन से लोग नए शुभ कार्य का आरंभ करते हैं। दशहरा शब्द की उत्पत्ति ‘दस’ और ‘अहन’ शब्द से हुई है। इसे कृषि उत्सव पर्व भी माना जाता है। इस पर्व का महत्व इसलिए भी है कि नवरात्रि के बाद ही यह उत्सव होता है और हिंदू मान्यता के अनुसार इसी समय पर देवी ने महिषासुर का वध किया था। कुछ स्थानों पर यह त्योहार विजयादशमी (vijaya dashami) के नाम से जाना जाता है। लोग इस दिन को बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप मनाते हैं और परिजनों, दोस्तों व अपनों को दशहरा की शुभकामनाएं (dussehra wishes in hindi) भेजते हैं। दशहरा से लोग दिवाली उत्सव के लिए अपनी तैयारियां शुरु कर देते हैं।

इस पोस्ट में बताया है कि दशहरा क्यों मनाया जाता है, साथ ही विजयदशमी की शुभकामनाएँ, दशहरा शायरी (dussehra shayari in hindi), शुभ दशहरा, हैप्पी दशहरा, दशहरा मैसेज, दशहरा संदेश (sandesh lekhan on dussehra) भी दिये गये हैं, इसे पढ़े और दशहरे के पावन अवसर पर अपनों के साथ फेसबुक और वाट्सऐप पर जरूर शेयर करें।



विजयदशमी की शुभकामनाएँ – Dussehra ki Shubhkamnaye

शारदीय नवरात्रि के पहले दिन से लेकिर दस दिनों तक कई जगहों पर रामलीला का आयोजन होता है और दसवें दिन रावण का विशाल पुतला बना कर उसे जलाया जाता है। भगवान राम की विजय के रूप में मनाया जाए या शक्ति की उपासना के रूप में, दोनों ही रूपों में यह शक्ति पूजा, शस्त्र पूजन, हर्ष, उल्लास और विजय का पर्व है। इसके साथ ही लोग एक-दूसरे को दशहरा शुभकामनाएं देते हैं। पेश हैं कुछ बेहतरीन शुभ दशहरा हैप्पी दशहरा की हार्दिक शुभकामनाएं, जिन्हें भेजकर आप लोगों को विजयदशमी की शुभकामनाएँ दे सकते हैं –

जोत से जोत जगाते चलो,
प्रेम की गंगा बहाते चलो,
राह में जो आए जो दीन-दुखी,
सबको गले से लगाते चलो,
दिन आएगा सबका सुनहरा,
इसलिए मेरी ओर से Happy Dussehra।

शांति-अमन के इस देश से,
अब बुराई को मिटाना होगा,
आतंकी रावण का दहन करने,
आज फिर राम को आना होगा।
शुभ दशहरा।

विजयदशमी की हार्दिक शुभकामनाएं,
बुराइयों का नाश हो, सब का विकास हो।

बुराई का होता है विनाश,
दशहरा लाता है उम्मीद की आस,
रावण की तरह आपके दुखों का हो नाश,
विजयदशमी की शुभकामनाएं।

हो आपकी जिंदगी में खुशियों का मेला,
कभी न आए कोई झमेला,
सदा सुखी रहे आपका बसेरा,
मुबारक हो आपको दशहरा।

अधर्म पर धर्म की विजय।
असत्य पर सत्य की विजय।
बुराई पर अच्छाई की विजय।
पाप पर पुण्य की विजय,
अत्याचार पर सदाचार की विजय,
क्रोध पर दया, क्षमा की विजय,
अज्ञान पर ज्ञान की विजय,
अधर्म पर धर्म की विजय के प्रतीक पावन
पर्व दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं।

खूब खाओ, खूब खिलाओ,
दशहरे का त्योहार जोश से मनाओ।
शुभ दशहरा।

खुशियों का त्योहार, प्यार की बौछार,
मिठाईयों की बहार, इस दशहरे के शुभ दिन
आपको मिले खुशियां हज़ार बार।
विजयदशमी की हार्दिक शुभकामनाएं।

फूल खिले, खुशी आपके कदम चूमे,
कभी न हो दुखों का सामना,
धन ही धन आए आपके अंगना,
यही है दशहरे के अवसर पर हमारी मनोकामना।
Happy Dussehra

मां काली का प्रचंड रूप,
दुर्गा की शेर-सवारी,
रावण का अंत महिषासुर का वध,
यही है दशहरा की कहानी,
हैप्पी दशहरा।

न सह सका जो अपनी बहन का अपमान,
था जिसको चारों वेदों का ज्ञान,
भाई कुम्भकरण और बेटा मेघनाथ,
सोचो फिर भी क्यों नहीं होता उसका सम्मान।
हैप्पी दशहरा

बुराई का होता है नाश,
दुख से होता है विनाश,
दशहरा लाता है उम्मीद की आस,
Happy Dussehra।

चंदन की खुशबू, रेशम का हार,
सदा खुश रहे आप और आपका परिवार,
मुबारक हो आपको ये दशहरा का त्योहार।

vijayadashami kyu manaya jata hai

आज प्रारंभ समय सुखों का, हो अंत आपके सारे दुखों का,
हो जाए खात्मा सारी बुराई का, आने वाला वक्त हो बस अच्छाई का।
आपको व आपके परिवार को विजयदशमी की शुभकामनाएँ ।



साधारण मनुष्य की छवि में जन्मे, कराया सबको पुरुषार्थ का ज्ञान,
किया दशानंद के अहम् का विनाश, फैलाया न्याय और धर्म का प्रकाश,
सिखाया सेवक का भाव जिसने, उसी ने बताया मित्रता का व्यवहार,
ऐसा रोचक था रामायण पुराण, जिसने सिखाया जीवन-ज्ञान।

राम नाम का जाप करें,
वे अहंकार विनाशी हैं,
जिसने रावण का नाश किया,
वहीं अयोध्या वासी हैं।

दशहरा हमें इस बात का एहसास कराता है
कि भले ही पाप का घड़ा कितना भी भर गया हो,
जीत हमेशा सच्चाई की ही होती है।
Happy Dussehra

शांति, शक्ति, निष्ठा, संयम, सम्मान,
सरलता, सफलता, समृद्धि, संस्कार, स्वास्थ्य,
सत्य, निष्ठा, सब आपके जीवन में आए।
Happy Dussehra

जैसे राम ने जीता लंका को,
वैसे आप भी जीतें सारी दुनिया को।
हैप्पी दशहरा

दशहरा कोट्स – Dussehra Quotes in Hindi

इस हर्षोल्लास के समय में यदि आप भी अपने नज़दीकी दोस्तों, परिचितों या करीबी लोगों को शुभकामनाएं देना चाहते हैं और कोई विशेष संदेश सूझ नहीं रहा है तो आइए, इस मामले में हम आपकी मदद करते हैं और खास दशहरे के मौके के अनुरूप ही आपके साथ कुछ बेहतरीन दशहरा संदेश (slogan on dussehra in hindi) या दशहरा कोट्स शेयर कर रहे हैं, जो आप किसी भी अपने को भेज सकते हैं –

किसी ने महसूस नहीं किया उस जलते हुए रावण का दुख,
जो बार-बार सामने खड़ी भीड़ से पूछ रहा था…
तुम में से कोई राम है क्या?
शुभ दशहरा।

रावण को मारने से पहले,
अपने अंदर के रावण का विनाश करना होगा,
सभी के बारे में अच्छा सोचें तो अच्छा ही होगा,
Happy Dussehra

क्यों रावण को मारने के लिए धरती पर बार-बार भगवान लें अवतार,
खुद ही मिल कर मिटाना होगा ये पाप और अत्याचार।
Happy Dussehra

जब तक देश में महिलाओं का शोषण होता रहेगा,
यूं ही सीता के सम्मान का हरण होता रहेगा,
महिलाओं का सम्मान सिर्फ कहने से नहीं,
करने से होगा, तभी वास्तविकता में होगा
हैप्पी दशहरा।

आस-पास के रावण को दूर भगाना है,
सबसे पहले अपने अंदर के हैवान को जलाना है,
तभी दशहरे में खुशियों के सच्चे दीप जलाना है।
हैप्पी दशहरा

देवी दुर्गा की तरह ही हर महिला का सम्मान हो
और रावण जैसे पुरुषों का संहार हो।
हैप्पी दशहरा।

इस दशहरा आओ कसम खाते हैं कि क्रोध,
अहंकार, लोभ, मोह को खत्म करेंगे और
कर्म को ही अपनी पूजा मानेंगे।
शुभ दशहरा

जरूरी है अपने ज़ेहन में राम को ज़िंदा रखना दोस्तो,
पुतले जलाने से कभी रावण नहीं मरा करते,
दशहरे की शुभकामनाएं।

चलो एक बार रावण को मार कर आते हैं,
कलम नई उठाते हैं, नई बात लिख जाते हैं,
शोषण को मिटाते हैं, हिन्दू मुस्लिम दोस्त बन जाते हैं,
मिल कर बुराई पर अच्छाई की जीत का यह त्योहार मनाते हैं।
शुभ दशहरा

रावण की लंका भी हुई थी सीता के पांव रखने से पावन,
तभी तो आज भी सीता की महिमा गाता है ये मन,
Happy Dussehra

खुश हो गया मन, जब देखा रावण दहन,
कब जलेंगे भीतरी रावण, पूछे है ये मन।

देखो कैसा है ये तमाशा,
रावण है जलता और दुशासन है जलाता।

अजीब विडंबना है, हर साल रावण जलाने से
पहले रावण बनाया जाता है। क्यों न ऐसा हो कि न रावण बने,
न जलाने की जरूरत हो।

अच्छाई के लिए लंका पर चढ़ाई करूं तो करूं कैसे,
खुद रावण हूं तो रावण से लड़ाई करूं तो करूं कैसे।

दशहरा पर सुविचार – Dussehra Thoughts in Hindi

पूरे देश में विजयदशमी (vijaya dashami) का पर्व बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। सत्य की जीत का प्रतीक दशहरा बुराई पर अच्छाइयों की जीत का प्रतीक है। माना जाता है कि इन दस दिनों में भगवान श्री राम ने भी मां दूर्गा की पूजा कर शक्ति का आह्वान किया था। भगवान राम की रावण पर और माता दुर्गा की महिषासुर पर जीत के इस त्योहार को बुराई पर अच्छाई और अधर्म पर धर्म की विजय के रुप में देशभर में मनाया जाता है। पेश हैं कुछ दशहरा पर सुविचार, जो आपको इस पर्व की अहमियत बताते हैं –

vijayadashami 2020 muhurat

दशहरा का ये प्यारा त्योहार,
जीवन में लाए खुशियां अपार,
श्री राम जी करें आपके घर सुख की बरसात,
शुभकामना हमारी करें स्वीकार।

त्याग दीं सब ख्वाहिशें, कुछ अलग करने के लिए,
‘राम’ ने खोया बहुत-कुछ, श्री राम बनने के लिए।

दशहरे का पावन पर्व सत्य की जीत का संदेश दे रहा है,
बुराई का दशानन अच्छाई की अग्नि में विध्वंस हो रहा है,
प्रभु श्रीराम के आचरण और इस पर्व के संदेश को अपनाएं।
इसी के साथ दशहरा पर्व की हजारो-हजार शुभकामनाएं।

अपने कर्म पर विश्वास रखिए, राशियों पर नहीं।
राशि तो राम और रावण की भी एक ही थी,
लेकिन नियति ने उन्हें फल, उनके कर्म-अनुसार दिया।

दशहरा का तात्पर्य, सदा सत्य की जीत,
गढ़ टूटेगा झूठ का, करें सत्य से प्रीत,
सच्चाई की राह पर लाख बिछे हों शूल,
बिना रुके चलते रहें शूल बनेंगे फूल।

जलाते हो हर साल रावण को,
बताओ क्या अधिकार रखते हो।
जब बन नहीं सकते हो राम तुम,
क्यों राम होने का ढोंग करते हो।

बुराई पर अच्छाई की जीत,
झूठ पर सच्चाई की जीत,
अहम न करो गुणों पर,
यही है इस दिवस की सीख।

कभी भी दुख का आप पर पड़े न साया,
राम जी के नाम का ऐसा असर है छाया,
हर पल धन-धान्य आए आपके अंगना, है
विजयदशमी पर मेरी यही मनोकामना।

रावण के संहार पर दशहरा,
अयोध्या वापसी पर मनाते दिवाली हैं,
दुनिया सारे गुण उनके गाती,
मेरे श्री राम की सारी बातें निराली हैं।

दहन पुतलों का ही नहीं,
बुरे विचारों का भी करना होगा,
श्री राम का करके स्मरण,
हर रावण से लड़ना होगा।

दशहरा मैसेज – Dussehra Greetings in Hindi

दशहरा (vijaya dashami) का पर्व एक जीत के जश्न के रूप में मनाया जाता है लेकिन जश्न की मान्यता सबकी अलग-अलग होती है। आजकल के समय में बुराई किसी भी रूप में हमारे अंदर हो सकती है जैसे काम, क्रोध, लोभ, झूठ, जलन, दुःख आदि। इसके लिए हमें अपने अन्दर की बुराई को खत्म करने की जरूरत है। किसी ने सही ही कहा है कि ‘मन से रावण जो निकाले राम उसके मन में हैं’। रावण यानि कि अंहकार और राम यानि ईश्वर जो सच्चाई का प्रतीक है। यदि ईश्वर का साथ चाहिए तो मन से बुराई को निकाल फेंकिए। पढ़िए और शेयर कीजिए ये शानदार दशहरा संदेश –

सीता ने लक्ष्मण रेखा पार की थी,
मगर एक भूखे को निवाला देने के लिए।
रावण की नीचता थी कि उसने छल से उनको था हरा,
लेकिन बिना डरे सीता की ही तरह जरूरतमंद की करो मदद,
तभी है असली दशहरा।

आइए हम सब मिल कर बुराई पर
अच्छाई की इस जीत का जश्न मनाते हैं।
Happy Dussehra

आपकी जिंदगी की सारी चिंताएं
रावण के पुतले के साथ ही दहन हो जाएं।

चिंताएं जिंदगी में हवा की तरह हल्की हों,
प्यार सागर की तरह गहरा हो,
दोस्त हीरे की तरह मजबूत हों,
सफलता सोने की तरह चमकदार हो,
इस विजयदशमी पर दिल से यही दुआ निकलती है।

रावण जलाओ, बुराई को आग लगाओ,
अच्छाई को अपनाओ, बुरे लोगों को भूल जाओ,
खूब मजे करो,
हैप्पी विजयदशमी।

सूर्य हर दिन उग कर और रौशनी दे कर,
हमें यही संदेश देता है कि रोशनी अंधकार को मिटा ही देती है।
आइए, सूर्य के उसी नियम का पालन करते हैं और इस उत्सव को मनाते हैं।
हैप्पी दशहरा।

Vijayadashami 2020

ये पल हो और भी सुनहरा, दुनिया में नाम रौशन हो तुम्हारा,
दूसरों को दिखाओ तुम किनारा, यही आशीर्वाद है हमारा।
हैप्पी दशहरा।

राम ने सतयुग में रावण की लंका जीती और फिर
त्याग और शांति का संदेश दिया, इसलिए दशहरा में आइए,
मिल कर शांति की ही कामना करें।

बुराई का रूप अब भ्रष्टाचार है,
रावण के रूप में नेताओं का अत्याचार है।
देश रूपी इस लंका में कौन राम बनेगा,
यहां तो अब बस मिलावटी व्यवहार है।

माता सीता की खोज में किया समंदर पार,
जिताई सभी दुखियों की आस,
तोड़कर महा अहंकारी का अहंकार,
प्रभु श्री राम ने किया दुखियों का उद्धार।

आज दशहरे का दिन आया,
असत्य पर सत्य ने स्थान पाया,
रामचंद्र जी ने रावण को हराया,
नीति का पूरी दुनिया को एक पाठ पढ़ाया।
दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं।